उत्तर प्रदेश : मथुरा महिला अस्पताल का जिलाधिकारी ने किया औचक निरीक्षण

  • Mathura News

सरकारी एवं प्राईवेट अस्पतालों में जाकर मरीजों से ली जानकारी। 

नवजात शिशु वार्ड एवं मदर केयर वार्ड का जिलाधिकारी ने किया औचक निरीक्षण। 

 

मथुरा 23 जुलाई 2020

जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने महिला चिकित्सा अस्पताल एवं गीता मेहता नर्सिंग होम कृष्णा नगर का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने सर्वप्रथम कृष्णा नगर स्थित मेहता नर्सिंग होम में जाकर मरीजों का प्रवेश करने, कोविड हेल्प डेस्क, संदिग्ध मरीजों की व्यवस्था एवं अन्य सुविधाओं का निरीक्षण किया।

उन्होंने नौहझील निवासी रीना अग्रवाल से सेनेटाइजर, थर्मल स्कैनिंग, आॅक्सीमीटर की जानकारी प्राप्त की। मरीजों ने बताया कि प्रवेश करने पर हैण्ड सेनेटाइज कराया जा रहा है। तत्पश्चात कोविड हेल्प डेस्क पर मरीजों का पूरा डाटा लिया जा रहा है। मरीजों की थर्मल स्कैनिंग एवं आॅक्सीमीटर मशीन से टेम्परेचर व अन्य जानकारी ली जाती है।

गीता मेहता अस्पताल के डाॅक्टर राकेश मेहता ने बताया कि जिन मरीजों का टेम्परेचर अधिक होता है, उनकी अलग से व्यवस्था की गयी है। इसी प्रकार संदिग्ध मरीजों को अलग वार्ड में रखकर इलाज किया जाता है। तत्पश्चात जिलाधिकारी ने महिला अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने मुख्य दरवाजे पर मौजूद सुभाष नगर निवासी पूनम से जानकारी प्राप्त की तथा सेनेटाइजर डाॅक्टरों द्वारा इलाज करने तथा दवाई उपलब्ध कराने के संबंध में भी विस्तृत जानकारी ली।

श्री मिश्र ने मातृछाया वार्ड में जाकर महिला डाॅक्टर कल्पना, कृष्णा एवं मीनाक्षी से ओपीडी में आयी महिलाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने बताया कि 130 महिलायें आयी हैं, जिनमें से अधिकांशतर महिलायंे सामान्य हैं। उन्होंने बताया कि मरीज के आने पर सर्वप्रथम सेनेटाइज कराया जाता है, थर्मल स्कैनिंग एवं अन्य चैकिंग करने के पश्चात संदिग्ध मरीजों को अलग वार्ड में भर्ती किया जाता है तथा सामान्य मरीजों के लिए अलग वार्ड की व्यवस्था की गयी है।

जिलाधिकारी ने नवजात शिशु वार्ड का भी अवलोकन किया, जिसमें 09 बच्चे मौजूद थे। उन्होंने बच्चों की स्थिति तथा उन्हें दिये जाने वाले उपचार की विस्तृत जानकारी प्राप्त की। उन्होंने नोडल अधिकारी केके माथुर से अस्पताल में सेनेटाइज कराने, चादरों को बदले जाने तथा दवाई की उपलब्धता केे विषय में जानकारी प्राप्त की। जिलाधिकारी ने मदर केयर वार्ड जाकर डीग गेट निवासी फरजाना पत्नी रहीश से वार्ता की तथा भोजन पानी की व्यवस्था एवं अन्य सुविधाओं के विषय में जानकारी प्राप्त की।

श्री मिश्र से अस्तपाल के बाहर मौजूद रचना पत्नी राधेश्याम निवासी जुनसूटी ने जिलाधिकारी से शिकायत की कि उसकी पत्नी को भर्ती नहीं किया गया, जिस पर जिलाधिकारी ने साथ में चल रहे संयुक्त निदेशक चिकित्सा से पूरे प्रकरण की जांच कर रिपोर्ट उनके पास भेजने के निर्देश दिये।

 

जिला सूचना अधिकारी, मथुरा


अब ख़बरें पाएं व्हाट्सप पर
क्लिक करें

ऐप के लिए
क्लिक करें