ये है कोरोना संक्रमितों के लिए सबसे सुरक्षित हास्पिटल

  • Mathura News

कोरोना संक्रमितों के लिए सबसे सुरक्षित के.डी. हास्पिटल

अब तक 181 लोग स्वस्थ होकर लौटे, इनमें 61 वृद्ध शामिल

मथुरा। कोरोना संक्रमितों के लिए सबसे सुरक्षित स्वास्थ्य संस्थान मथुरा का के.डी. मेडिकल कालेज-हास्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर है। वजह, यहां की आधुनिकतम स्वास्थ्य सुविधाएं, साफ-सुथरा भोजन और विशेषज्ञ डाक्टर्स, नर्सेज तथा पैरा मेडिकल स्टाफ की 24 घण्टे सतत निगरानी को माना जा सकता है। के.डी. हास्पिटल से अब तक 181 लोग स्वस्थ होकर अपने-अपने घर लौट चुके हैं जिनमें 55 साल से अधिक उम्र के 61 लोग शामिल हैं। 

आर.के. एज्यूकेशन हब के अध्यक्ष डा. रामकिशोर अग्रवाल का कहना है कि वैश्विक महामारी के खिलाफ के.डी. हास्पिटल के डाक्टर्स, नर्सेज तथा पैरा मेडिकल कर्मचारी प्रशंसनीय कार्य कर रहे हैं, हमें इनकी निडरता पर गर्व है। उपाध्यक्ष पंकज अग्रवाल का कहना है कि चूंकि इस बीमारी की अभी तक कोई वैक्सीन नहीं बनी है ऐसे में कोरोना संक्रमितों की चिकित्सा सेवा करने वाले चिकित्सक और नर्सेज मानवता का नायाब उदाहरण हैं, इनकी जितनी प्रशंसा की जाए कम है। 

कोविड सेण्टर प्रमुख डा. गौरव सिंह का कहना है कि बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं और बेहतर प्रबंधन के चलते ही के.डी. हास्पिटल से प्रतिदिन कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने का सिलसिला जारी है। चूंकि के.डी. हास्पिटल में कोरोना संक्रमितों की देखभाल एक टीम के रूप में की जाती है लिहाजा यहां अब तक किसी तरह की दिक्कत नहीं हुई है। कोरोना संक्रमितों की देखभाल और उनकी हर स्थिति पर नजर रखने वालों में मेडिसिन विशेषज्ञ डा. सौरभ सिंघल, निश्चेतना विशेषज्ञ डा. ए.पी. भल्ला, डा. प्रदीप कुमार पाढ़ी, डा. अम्बरीश, डा. मयंक माथुर, डा. शुभम द्विवेदी, डा. वंदना पंडित, डा. अमित कुमार, नर्सेज तथा पैरामेडिकल स्टाफ शामिल है। डीन डा. रामकुमार अशोका, चिकित्सा अधीक्षक डा. राजेन्द्र कुमार, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी अरुण अग्रवाल लगातार कोरोना संक्रमितों की तन-मन से चिकित्सा सेवा करने वाले डाक्टर्स, नर्सेज तथा अन्य कर्मचारियों का मनोबल बढ़ा रहे हैं।


अब ख़बरें पाएं व्हाट्सप पर
क्लिक करें

ऐप के लिए
क्लिक करें