उत्तर प्रदेश, वृंदावन : रजत झूले में झूले गोदारंगमन्नार

  • Mathura News

विकास अग्रवाल

टीटीआई न्यूज़

वृन्दावन (24-07-2020)

 

उत्तर भारत के प्रसिद्ध रंगनाथ मन्दिर में हरियाली तीज के अवसर पर भगवान को झूला झुलाया गया। 13 दिवसीय हरियाली उत्सव में रजत निर्मित झूले में भगवान रंगनाथ माता गोदा के साथ विराजते है। प्रतिवर्ष इस अलौकिक दर्शन को करने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं, लेकिन इस बार कोरोना काल के कारण भक्त दर्शनों से वंचित रहे।

करीब 170 साल से चले आ रहे इस उत्सव में भगवान गोदारंगमन्नार रजत निर्मित झूले में विराजते हैं। सवा मन चाँदी के इस झूले का निर्माण कदम्ब वृक्ष पर पड़े झूले की तरह किया गया है।

झूले के ऊपरी भाग पर जहां मोर , तोता विराजमान हैं वहीं झूले के स्तम्भ पर कदम्ब वृक्ष की लताओं का एहसास कराते है।

मंदिर की मुख्य कार्यकारी अधिकारी अनघा श्रीनिवासन ने बताया कि ब्रज में सावन माह में झूला उत्सव का विशेष महत्व है, इसीलिए रंगनाथ मन्दिर में भी प्रतिवर्ष झूला उत्सव पूरी आस्था और उत्साह के साथ मनाया जाता है।

उनके अनुसार वर्तमान में चल रहे कोरोना काल के कारण भक्तों का मन्दिर में प्रवेश बन्द है लेकिन मन्दिर प्रबंध तंत्र भगवान गोदारंगगमन्नार के प्रत्येक उत्सव को उसी तरह मना रहा है। जैसे कोरोना काल से पहले आयोजित होते थे।


अब ख़बरें पाएं व्हाट्सप पर
क्लिक करें

ऐप के लिए
क्लिक करें